मनोविज्ञान ( Syllabus For Psychology ) कुमाऊं यूनिवर्सिटी उत्तराखंड BA 2024 – 25

मनोविज्ञान ( Syllabus For Psychology ) कुमाऊं यूनिवर्सिटी उत्तराखंड BA

Syllabus For Psychology in Hindi: – कुमाऊं यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन डिग्री के रूप में BA ( Psychology ) मतलब BA in Psychology करने वाले स्टूडेंट्स अक्सर, मनोविज्ञान के पाठ्यक्रम को समझने के लिए उसे इन्टरनेट पर खोजतें रहतें हैं

परन्तु, उत्तराखंड के स्टूडेंट्स को इस विषय पर सही नॉलेज नहीं मिल पाती हैं हाँ, लगभग हर राज्य में यूनिवर्सिटी का पाठ्यक्रम एकसमान होता हैं

यही कारण हैं कि किसी भी पाठ्यक्रम से पढने वाला स्टूडेंट्स अपने एग्जाम को अच्छे से करने में सक्षम रहता हैं हमारी रिसर्च के अनुसार, अधिकतर मामलों में टॉपिक्स ऊपर – नीचे रहतें हैं परन्तु, सबको सबकुछ पढ़ाया जाता हैं लेकिन ऐसी स्थिति में एक बार अपनी यूनिवर्सिटी से पाठ्यक्रम समझना महत्वपूर्ण कदम होता हैं

हाँ, यह सच है कि हर राज्य के स्टूडेंट्स यहाँ दिए पाठ्यक्रम के हिसाब से अपनी तैयारी शुरू कर सकतें हैं लेकिन मुख्य रूप से Kumaun University के माध्यम से BA in Phychology करने वाले स्टूडेंट्स यहाँ दिए Syllabus Psychology को अच्छे से समझ सकतें हैं ऐसा लगभग हर स्टूडेंट के साथ होता हैं कि वह अपनी यूनिवर्सिटी के पाठ्यक्रम को देखने के लिए,

मनोविज्ञान ( Syllabus For Psychology ) कुमाऊं यूनिवर्सिटी उत्तराखंड BA

यूनिवर्सिटी वेबसाइट पर जाता हैं लेकिन वहां पाठ्यक्रम को अच्छे से समझने में परेशानी देखने को मिलती हैं यही कारण है कि इस लेख में नितिन सोनी के द्वारा BA करने पर मनोविज्ञान के सम्पूर्ण पाठ्यक्रम के बारे में बताया जाएगा

हम सब जानतें हैं कि मनोविज्ञान एक ऐसा सब्जेक्ट है जिसमें हम मनुष्य को समझने वालें फैक्ट्स को पढतें हैं हाँ, इसे एक कला माना जाता हैं दुनिया में बहुत लोग एक Psychologist के रूप में काम करतें हैं खुद को समझने वालें लोगो के लिए यह एक अच्छा सब्जेक्ट माना जाता हैं अगर आपकी रुची मनोविज्ञान में हैं तो यह लेख आपके लिए हैं

क्यों पाठ्यक्रम समझना हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं?

जब हम किसी विषय को स्टडी के तौर पर पढने का काम करतें हैं तो इस दौरान हमें उस विषय के सम्पूर्ण पाठ्यक्रम को समझने से उस विषय को पढ़ना आसान बनाने में मदद मिलती हैं अक्सर 12th करने के बाद, स्टूडेंट्स ग्रेजुएशन करने में कंफ्यूज रहतें हैं ऐसी स्थिति में अधिकतर स्टूडेंट्स ग्रेजुएशन में चुने जाने वाले विषयों के पाठ्यक्रम को समझकर उसको करना हैं या नहीं?

यह विचार करते हैं हमें पता हैं कि 12th हमारे सम्पूर्ण सब्जेक्ट के पाठ्यक्रम को पूर्ण करवाना टीचर के हाथों में होता हैं परन्तु ग्रेजुएशन के समय पर, अधिकतर स्टूडेंट डेली रूप से कॉलेज में जाकर पढाई नहीं कर पातें हैं ऐसे स्टूडेंट अपने विषय के पाठ्यक्रम को समझकर उसको घर बैठे बैठे मैनेज करके पढ़ना पसंद करतें हैं

कुल मिलकर हम यह कह सकतें हैं कि मनोविज्ञान को अच्छे से पढने के लिए उसके सही पाठ्यक्रम के बारे में हमें पता होना जरुरी होता हैं क्योकि यह हमारी पढाई में बहुत अधिक मदद करता है

Syllabus For Psychology BA – Kumaun University Special ( Uttarakhand Study )

मनोविज्ञान के पाठ्यक्रम को उत्तराखंड की कुमाऊं यूनिवर्सिटी के अनुसार आप कुछ इस तरह से समझ सकतें हैं कि जब आप ग्रेजुएशन डिग्री के रूप में BA in Phychology करते हैं तो यह पुरी 3 वर्ष का होता हैं जिसमें कुछ प्रैक्टिकल और एग्जाम लिए जातें हैं आप साधारण शब्दों में इसके थ्योरी सेक्शन को कुछ इस तरह से समझ सकतें हैं कि नीचे दिए सभी टॉपिक्स एक बुक हैं

हाँ, यह एग्जाम हैं लेकिन आपको यह समझना होगा कि प्रत्येक एग्जाम को आप पढ़कर क्लियर कर सकतें हैं जिसके लिए आपको यह पता होना चाहिए कि किस सब्जेक्ट में आपको क्या पढ़ना हैं? प्रैक्टिकल के रूप में इसमें लैब प्रैक्टिकल होतें हैं जिनके बारे में नीचे बताया गया हैं

नोट – क्योकि BA तीन वर्ष का होता हैं इसीलिए इसमें कुल 6th Semester होतें हैं नीचे हम हर एग्जाम के साथ साथ उसके Semester के बारे में बतायेंगें जिससे आपको यह पता लग सकें कि कौन सा एग्जाम किस Semester के अंदर हैं इसके साथ साथ हर Semester के प्रैक्टिकल के बारे में उसके साथ साथ बताया गया हैं 

  1. Basic Psychological Processes With Practical
  2. Social Psychology With Practical
  3. Abnormal Psychology With Practical
  4. Statisticsin Psychology With Practical
  5. Psychological Assessment
  6. Industrial Psychology With Practical
  7. Environmental psychology
  8. Life Span Development With Practical

Basic Psychological Processes With Practical

कुमाऊं यूनिवर्सिटी से BA करने वाले स्टूडेंट के लिए यह पहला एग्जाम होगा क्योकि यह पहला एग्जाम हैं तो इसीलिए BA करने के दौरान, प्रथम वर्ष या प्रथम Semester के अंदर इस एग्जाम को लिया जाएगा जिसमें नीचे दिए टॉपिक्स से रिलेटेड प्रशन आयेंगें

Unit 1 = परिचय: मनोविज्ञान की परिभाषा, लक्ष्य और दायरा; दृष्टिकोण: जैविक, मनोगतिक, व्यवहारवादी और संज्ञानात्मक; विधि: अवलोकन, प्रयोगात्मक।

Unit 2 = व्यवहार के जैविक आधार: तंत्रिका तंत्र: न्यूरॉन, केंद्रीय तंत्रिका तंत्र

Unit 3 = संवेदना और अनुभूति: संवेदना का अर्थ और विशेषताएँ, संवेदना के प्रकार; दृश्य संवेदना: आँख की संरचना कान की संरचना अनुभूति की प्रकृति और विशेषताएँ।

Unit 4 = ध्यान: ध्यान का अर्थ और विशेषताएँ; ध्यान के प्रकार: ध्यान के प्रकार; ध्यान के निर्धारक।

Unit 5 = सीखना: सीखने की प्रकृति; सीखने के सिद्धांत: थार्नडाइक का सीखने का परीक्षण और त्रुटि सिद्धांत। कंडीशनिंग का सिद्धांत: शास्त्रीय कंडीशनिंग और इंस्ट्रूमेंटल कंडीशनिंग 

Unit 6 = स्मृति और भूलना: स्मृति की परिभाषा; स्मृति में शामिल प्रक्रियाएँ

Unit 7 = प्रेरणा और भावना: प्रेरणा की प्रकृति, प्रेरणा के प्रकार: बायोजेनिक और सोसोजेनिक उद्देश्य। भावना का अर्थ और परिभाषा, भावना में शारीरिक परिवर्तन; भावना के सिद्धांत: (जेम्स-लैंग सिद्धांत और कैनन-बार्ड)।

Unit 8 =बुद्धि: बुद्धि का अर्थ और परिभाषा, बुद्धि का मापन: I.Q की अवधारणा।

कुछ पढने योग्य बुक्स

Note – हर एग्जाम को लेकर बुक्स पढने वाले स्टूडेंट के लिए यहाँ कुछ ऐसे बुक्स के नाम और उनके लेखक के नाम दिए हैं जिनको आप पढ़ सकतें हैं 

बुक्स के नाम ( Books Name ) राइटर के नाम ( AuthorName )
Adhunik Samanya Manovigyan Dr R N Singh 
(1989) Introduction to Physiological Psychology Morgan, C. T., King, R. A., Weisz, J. R. & Schopler, J
Psychology: The Essential Science Baron, R.A
Adhunik Uchchter Samanya Manovigyan Arun Kumar Singh 
Psychology Zimbardo, P.G. & Weber, A L 
Mool Manovagyanik Prakriayen RN Singh & Shubhra Bhardwa 

 

Lab Work & Practical

यह ऊपर दिए एग्जाम का लैब प्रैक्टिकल हो सकता हैं जिसमें लगभग चार यूनिट हैं इनके बारे में हमने नीचे मेंशन किया हैं

Unit 1 = Bilateral transfer of training\ Maze learning

Unit 2 = Effect of Set of Perception/Emotional Maturity Test

Unit 3 = Retroactive Inhibition \Memory span Test

Unit 4 = Verbal Performance Test/I Q Test

Social Psychology With Practical

मनोविज्ञान से BA करने वाले स्टूडेंट्स के लिए प्रथम वर्ष या 2nd Semester में यह एग्जाम देना होता हैं जिसमें कुछ ऐसे विषयों पर आधारित प्रशन आतें हैं जिनके बारे में हमने नीचे बताया हैं

Unit 1 = सामाजिक मनोविज्ञान: प्रकृति, और दायरा; सामाजिक व्यवहार का अध्ययन करने के तरीके- सहसंबंध, प्रयोगात्मक, अवलोकन।

Unit 2 = व्यक्ति की धारणा: अवधारणा, प्रभाव निर्माण के निर्धारक।

Unit 3 = सामाजिक अनुभूति: स्कीमा, योजनाबद्ध प्रसंस्करण। एट्रिब्यूशन के सिद्धांत (हेरोल्ड केली और बर्नार्ड वेनर)।

Unit 4 = दृष्टिकोण: प्रकृति, गठन और माप। पारस्परिक आकर्षण: अवधारणा और निर्धारक।

Unit 5 = आक्रामकता: अवधारणा, आक्रामकता के सिद्धांत: निराशा-आक्रामकता परिकल्पना, आक्रामकता का सामाजिक शिक्षण सिद्धांत।

Unit 6 = सामाजिक व्यवहार: मदद करने के उद्देश्य। निर्धारक: व्यक्तिगत, परिस्थितिजन्य और सामाजिक-सांस्कृतिक।

Unit 7 = सामाजिक प्रभाव प्रक्रियाएँ: अनुरूपता और अनुपालन। पूर्वाग्रह और भेदभाव।

Unit 8 = समूह: मानदंड, भूमिकाएँ, स्थिति और सामंजस्य। समूह प्रभाव प्रक्रियाएँ: सामाजिक सुविधा; सामाजिक आलस्य और ई-विघटन।

कुछ पढने योग्य बुक्स 

बुक्स के नाम ( Books Name ) राइटर के नाम ( AuthorName )
Social Psychology ( 12thed ) Shelley Taylor, Anne Peplau, David O. Sears ( 2006 )
Social Psychology ( 13thed ) Robert A. Baron, Nyla R. Branscombe ( 2012 )
Samajik Manovigyan Ki Bhumika R N Singh
Social Psychology and Human Nature ( 3rded ) Roy F. Baumeister and Brad J. Bushman 
Adhunik Samajik Manovigyan Ki Ruprekha Arun Kumar Singh
Social Psychology ( 12thed ) Baron, Nyla R. Branscombe, Donn R. Byrne, Gopa Bhardwaj

 

Lab Work & Practical

सोशल मनोविज्ञान का लैब वर्क प्रैक्टिकल के रूप में ऊपर दिए सोशल मनोविज्ञान के एग्जाम के बाद होगा जिसमें नीचे दिए टॉपिक्स मुख्य हैं

Unit 1 = Measurement of Attitude/Interpersonal Attraction

Unit 2 = Prejudice Scale/Attribution Test

Unit 3 = Social conformity/ Helping Behaviour

Unit 4 = Social Facilitation/ Conformity

Abnormal Psychology With Practical

जब स्टूडेंट यहाँ तक अपनी पढाई को पूर्ण रूप से पूरा कर लेतें हैं तब वह दुसरे साल में प्रवेश करतें हैं जिसके 3rd Semester में यह पहला पपेर देना होता हैं इसमें आने वाले प्रशनो के टॉपिक्स को नीचे मेंशन किया गया हैं

Unit 1 = असामान्य मनोविज्ञान: असामान्यता की अवधारणा और मानदंड, असामान्यता का वर्गीकरण (DSMV): एक परिचय।

Unit 2 = चिंता विकार: नैदानिक ​​चित्र और एटियोलॉजी: सामान्यीकृत चिंता विकार (GAD), भय, आतंक विकार और जुनूनी-बाध्यकारी विकार (OCD)।

Unit 3 = दैहिक और विघटनकारी विकार: दैहिक लक्षण और संबंधित विकार, विघटनकारी विकार-प्रकार, नैदानिक ​​चित्र और एटियोलॉजी।

Unit 4 = अवसादग्रस्तता और द्विध्रुवी विकार: प्रकार, नैदानिक ​​चित्र और एटियोलॉजी

Unit 5 = सिज़ोफ्रेनिया: प्रकार, नैदानिक ​​चित्र और एटियोलॉजी।

Unit 6 = सीखने की अक्षमता: पढ़ना, लिखित अभिव्यक्ति और गणितीय विकार

Unit 7 = पदार्थ संबंधी विकार: अर्थ और प्रकार, शराब, निकोटीन, मारिजुआना, शामक और उत्तेजक। नैदानिक ​​चित्र और एटियलजि

Unit 8 = न्यूरो विकासात्मक विकार: ध्यान-घाटे/अति सक्रियता विकार (ADHD)/(ADD), बौद्धिक विकलांगता।

कुछ पढने योग्य बुक्स 

बुक्स के नाम ( Books Name ) राइटर के नाम ( AuthorName )
Clinical Psychology Mr Kevin Brewer (2001 )
Asamanya Manovigyaan ki Bhumika R N Singh ( 2022 )
Abnormal Psychology Barlow, D.H., & Durand, V.M ( 2009 )
Abnormal Psychology and Life: A Dimensional Approach Chris Kearney, Timothy Trull ( 2012 )
Abnormal Psychology Carson, R. C, Butcher, J. N, Mineka, S, & Hooley, J. M. ( 2008 ) 
Abnormal and Clinical Psychology: An Introductory Textbook Bennett. (2006) 
Adhunik Asamnya Manovigyan A K Singh 
Asamanya Manovigyan Dr Labh Singh, Dr Govind Tiwari ( 2020 )

 

Lab Work & Practical

जब हम Abnormal मनोविज्ञान का थ्योरी एग्जाम देतें हैं तो उसके बाद हमारा Abnormal Lab Work के रूप में प्रैक्टिकल होता हैं जिसमें नीचे दिए टॉपिक्स शामिल होतें हैं

Unit 1 = Stress/Neuro developmental

Unit 2 = Anxiety/Learning Disability

Unit 3 = Depression/Coping Mechanism

Unit 4 = Substance abuse/Intelligence Test

Statisticsin Psychology With Practical

मनोविज्ञान से BA करने में इस एग्जाम का पपेर आप दुसरे वर्ष या 4 th Semester में देतें हैं जिसमें नीचे बताये टॉपिक्स से प्रशन पूछे जातें हैं आप इनको अच्छे से तैयार कर सकतें हैं

Unit 1 = व्याख्यानों की संख्या I मनोविज्ञान में सांख्यिकी: मनोविज्ञान में सांख्यिकी का अर्थ और उद्देश्य, असतत और सतत चर

Unit 2 = नमूनाकरण का परिचय और इसके प्रकार।

Unit 3 = आवृत्ति वितरण और उनका ग्राफिकल प्रतिनिधित्व: आवृत्ति बहुभुज, हिस्टोग्राम, संचयी आवृत्ति वक्र और तोरण

Unit 4 = केंद्रीय प्रवृत्ति के उपाय: माध्य, माध्यिका और बहुलक: अर्थ, गणना और अनुप्रयोग।

Unit 5 = परिवर्तनशीलता का माप: सीमा, चतुर्थक विचलन और मानक विचलन: अर्थ। अनुप्रयोग और गणना।

Unit 6 = सहसंबंध: सहसंबंध की अवधारणा, रैखिक और गैर-रैखिक सहसंबंध, पियर्सन का उत्पाद क्षण सहसंबंध (वास्तविक और अनुमानित माध्य), स्पीयरमैन का रैंक ऑर्डर सहसंबंध।

Unit 7 = सामान्य वितरण: संभाव्यता की अवधारणा, एनपीसी की विशेषताएं, तिरछापन और कुर्टोसिस।

Unit 8 = परिकल्पना परीक्षण और निष्कर्ष निकालना: परीक्षण का परिचय, गैर पैरामीट्रिक परीक्षण, पैरामीट्रिक परीक्षण, ची स्क्वायर परीक्षण। माध्य की मानक त्रुटि। df. टी-मानों की व्याख्या – महत्व का स्तर; निष्कर्षों में टाइप I और टाइप II त्रुटियाँ

कुछ पढने योग्य बुक्स 

बुक्स के नाम ( Books Name ) राइटर के नाम ( AuthorName )
Theory and practice of psychological testing Freeman, Frank Samuel ( 1962 ) 
Psychometric Methods Guilford, J. P. (1936) 
Tests, Measurement and Research Methods in Behavioral Sciences AK Singh ( 2006 ) 
Psychological Testing Anastasi, A. (1950)
Saankhyiki Ke Mool Tatva H.K. Kapil and Mamta Singh
Essentials of psychological testing LJ Cronbach ( 1960 ) 
Psychological Testing: History, Principles and Applications Robert J. Gregory ( 2014 )
Manovigyan and Shiksha Me Sankhiki Dr. D.N. Shrivastava and Dr. Preeti Verma 
Statistics in Psychology and Education Henry E. Garrett ( 1966 )
Foundations of Behavioral Research Fred N. Kerlinger ( 1983 )

 

Lab Work & Practical

4th सेमेस्टर में आप Statistics in Psychology का थ्योरी एग्जाम देने के बाद उसका प्रैक्टिकल देतें हैं जिसमें आपको नीचे दिए टॉपिक्स को कवर करना होता हैं

Unit 1 = Substitution Learning/Self-report Inventory

Unit 2 = Retroactive Interference/Intelligence Test

Unit 3 = Paired Associate Method/ Zeigarnik Effect

Unit 4 = Ranking Method

Psychological Assessment

मनोविज्ञान से ग्रेजुएशन के रूप में BA करने के अंतिम वर्ष अथार्थ 3rd इयर या 5th सेमेस्टर में आप Psychological Assessment का एग्जाम देतें हैं जिसमे उत्तराखंड की Kumaun यूनिवर्सिटी नीचे दिए टॉपिक्स से सम्बंधित प्रशन उत्तर लिखने के लिए देती हैं

Unit 1 = परिचय: – मनोवैज्ञानिक आकलन की प्रकृति और दायरा।

Unit 2 = मनोवैज्ञानिक परीक्षण:- परीक्षण निर्माण और मानकीकरण के सिद्धांत- आइटम विश्लेषण, विश्वसनीयता, वैधता और मानदंडों का विकास

Unit 3 = मनोवैज्ञानिक के प्रकार; परीक्षण-व्यक्तिगत, समूह, प्रदर्शन, मौखिक, अशाब्दिक

Unit 4 = मनोवैज्ञानिक स्केलिंग, स्केलिंग के तरीके

Unit 5 = योग्यता का आकलन:- सामान्य योग्यताओं का आकलन बुद्धि, रुचि, पारस्परिक संपर्क।

Unit 6 = व्यक्तित्व का आकलन:- व्यक्तित्व का आकलन स्व-रिपोर्ट सूची, साक्षात्कार, प्रोजेक्टिव और गैर-प्रोजेक्टिव परीक्षणों का उपयोग

Unit 7 = मनोवैज्ञानिक मूल्यांकन के घटक-मानदंड संदर्भ, मनोवैज्ञानिक परीक्षण, अनौपचारिक परीक्षण और सर्वेक्षण, साक्षात्कार, सूचना, स्कूल या मेडिकल रिकॉर्ड, चिकित्सा मूल्यांकन और अवलोकन डेटा।

कुछ पढने योग्य बुक्स 

बुक्स के नाम ( Books Name ) राइटर के नाम ( AuthorName )
Psychological Assessment Mishra, H.C., Mishra, G.C ( 2018 )

Psychological Testing

Anastasi, A (1988)
Psychological Measurement, Evaluation and Statistics Dr. Mahesh Bhargava

 

Industrial Psychology With Practical

दुसरे पपेर ( एग्जाम ) के रूप में Industrial Psychology का पपेर होता हैं जिसमें नीचे बताये टॉपिक्स से सम्बंधित प्रशन उत्तर लिखने के लिए मुख्य रूप से शामिल किये जातें हैं हाँ, यह थ्योरी पपेर भी 5th सेमेस्टर में लिया जाता हैं

Unit 1 = औद्योगिक मनोविज्ञान: प्रकृति और परिभाषा, औद्योगिक मनोविज्ञान का क्षेत्र और दायरा, औद्योगिक मनोविज्ञान की प्रमुख समस्याएँ

Unit 2 = औद्योगिक मनोविज्ञान की विधियाँ: अवलोकन विधि: अवलोकन के प्रकार, सहभागी अवलोकन, सहभागी पर अवलोकन, साक्षात्कार विधि: साक्षात्कार का अर्थ, साक्षात्कार के प्रकार।

Unit 3 = औद्योगिक थकान: थकान का अर्थ, थकान के प्रकार, आवश्यक थकान, अनावश्यक थकान, थकान का प्रभाव

Unit 4 = दुर्घटना: दुर्घटना का अर्थ, दुर्घटना के प्रभाव और औद्योगिक दुर्घटनाओं के कारण।

Unit 5 = औद्योगिक मनोबल: औद्योगिक मनोबल की प्रकृति और विशेषताएँ, औद्योगिक मनोबल के माप, औद्योगिक मनोबल के निर्धारक, औद्योगिक मनोबल बढ़ाने के तरीके

Unit 6 = प्रेरणा और प्रोत्साहन: प्रेरणा का अर्थ, प्रेरणा के प्रकार, जैविक उद्देश्य, सामाजिक उद्देश्य, वित्तीय और गैर-वित्तीय उद्देश्य

Unit 7 = कार्मिक चयन: कार्मिक चयन का अर्थ, कार्मिक चयन का उद्देश्य कार्मिक चयन का महत्व।

Unit 8 = नौकरी की संतुष्टि: अर्थ और प्रकृति, नौकरी की संतुष्टि के निर्धारक, व्यक्तिगत कारक, नौकरी के कारक, प्रबंधन कारक, नौकरी की संतुष्टि के उपाय।

कुछ पढने योग्य बुक्स 

बुक्स के नाम ( Books Name ) राइटर के नाम ( AuthorName )
Modern Industrial and Organizational Psychology Dr. Muhammad Suleman, Dr. Vinay Kumar Chaudhary
Industrial Psychology AP Singh

 

Lab Work & Practical

जब आप मनोविज्ञान की ग्रेजुएशन पढाई करतें हैं तो ग्रेजुएशन के अंतिम तीसरे वर्ष के 5th सेमेस्टर को पूरा करने के लिए Industrial Psychology का लैब वर्क प्रैक्टिकल किया जाता हैं जिसमें नीचे दिए टॉपिक्स को दिया जाता हैं

Unit 1 = Mental Fatigue/Stress Management

Unit 2 = Religiosity Scale/ Conflict Scale

Unit 3 = Job Satisfaction/Vocational /Educational

Unit 4 = Interest Test/Achievement Motivation Scale/Adjustment Scale/Academic Anxiety Scale/Mental Health

  • Research Project 

Environmental psychology With Practical

मनोविज्ञान में Environmental Psychology का एग्जाम ग्रेजुएशन के तीसरे वर्ष में 6TH सेमेस्टर में लिया जाता हैं जिसमें नीचे दिए टॉपिक्स से सम्बंधित प्रशन Kumaun यूनिवर्सिटी के द्वारा उत्तर देने के लिए दियें जातें हैं

Unit 1 = पर्यावरण और अध्ययन, प्रकृति और बहु-विषयक, परिचय, परिभाषा, इतिहास और दायरा और महत्व जन जागरूकता की आवश्यकता।

Unit 2 = प्राकृतिक संसाधन: प्राकृतिक संसाधनों का अर्थ और परिभाषा, प्राकृतिक संसाधनों के प्रकार, नवीकरणीय और गैर नवीकरणीय, वन, खाद्य संसाधन

Unit 3 = ऊर्जा संसाधन। खनिज संसाधनों के खनन के पर्यावरणीय प्रभाव। पारिस्थितिकी तंत्र: पारिस्थितिकी तंत्र-परिभाषा और महत्व, पारिस्थितिकी तंत्र की संरचना, पारिस्थितिकी तंत्र के कार्य।

Unit 4 = सामाजिक मुद्दे और पर्यावरण: ध्वनि प्रदूषण, जल प्रदूषण, मृदा प्रदूषण। वर्षा जल संचयन। पर्यावरण संरक्षण की नैतिकता।

Unit 5 = प्राकृतिक संसाधन: ऊर्जा संसाधन, ऊर्जा संसाधनों के प्रकार, प्राकृतिक संसाधन के रूप में भूमि, भूस्खलन, मृदा प्रदूषण, मृदा संरक्षण, मरुस्थलीकरण और प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण में लोगों की भूमिका।

Unit 6 = आपदा प्रबंधन: आपदाओं की परिभाषा और प्रकार – ज्वालामुखी विस्फोट, सुनामी, बाढ़, चक्रवात, भूकंप

कुछ पढने योग्य बुक्स 

बुक्स के नाम ( Books Name ) राइटर के नाम ( AuthorName )
The way: The ecological world-view Edward Goldsmith ( 1991  )
Environmental Psychology Prem Sagar Nath Tiwari ( 2015 ) 
Indian development jean dreze amartya sen ( 1992 ) 
Modern Environment Psychology Shukla A and Singh G ( 2014 ) 
Environamrntal Studies Sanjay Kumar Gupta ( 2020 ) 
Equity Madhav Gadgil, Ramachandra Guha ( 1995 ) 

 

Lab Work & Practical

Environmental Psychology का लैब प्रैक्टिकल इसके एग्जाम के साथ साथ 6th सेमेस्टर में लिया जाता हैं

Unit 1 = Student Behaviour Survey

Unit 2 = Aggression Scale

Unit 3 = Environmental Awareness Inventory

Unit 4 = Personal Space

Life Span Development

Life Span Development एग्जाम BA ( मनोविज्ञान ) में थ्योरी के रूप में लिया जाता हैं जिसमें निमंलिखित विषयों से सम्बंधित प्रशन शामिल होतें हैं जिनके बारे में हमने नीचे बताया हैं

Unit 1 = मानव वृद्धि और विकास: अर्थ, लक्ष्य, डोमेन, सिद्धांत और मुद्दे। वृद्धि और विकास के बीच अंतर।

Unit 2 = जीन और गुणसूत्र: आनुवंशिकी की मूल बातें, आनुवंशिकता और पर्यावरण की परस्पर क्रिया।

Unit 3 = जन्मपूर्व विकास: जन्मपूर्व विकास को प्रभावित करने वाले चरण और कारक।

Unit 4 = मानव विकास के लिए सैद्धांतिक दृष्टिकोण: पियागेट का संज्ञानात्मक सिद्धांत, वायगोत्स्की का सामाजिक-सांस्कृतिक सिद्धांत, एरिक्सन का मनोसामाजिक सिद्धांत और कोहलबर्ग का नैतिक विकास।

Unit 5 = शैशवावस्था, बचपन और किशोरावस्था में मानव विकास: शैशवावस्था और बचपन: शारीरिक, संज्ञानात्मक और मनोसामाजिक विकास। किशोरावस्था-शारीरिक और संज्ञानात्मक विकास

Unit 6 = मनोसामाजिक विकास: किशोरावस्था-स्वयं की पहचान, कामुकता और पारस्परिक संबंध। वयस्कता- व्यक्तित्व विकास, करियर, विवाह और अंतरंग संबंध।

कुछ पढने योग्य बुक्स 

बुक्स के नाम ( Books Name ) राइटर के नाम ( AuthorName )
Handbooks of Psychology in India (Section IV) Girishwar Misra ( 2011 ) 
Child Development: An Indian Perspective Ashok K. Srivastava ( 1997 )
Child Development, 9th Edition Laura E. Berk ( 2010 )
Modern Developmental Psychology RN Singh ( 2015 ) 
Development Through the Lifespan Laura Berk ( 2017 ) 
Life-Span Development ( 13thed ) John Santrock ( 2011, 2012 ) 
Discovering The Life Span Robert S. Feldman ( 2011 ) 
 Child Psychology. Child Development Dr. D.N. Shrivastava and Dr. Preetti Verma ( 2019 )

 

  • Research Project

Psychology for Living

मनोविज्ञान के ग्रेजुएशन कोर्स में तीसरे वर्ष में 1st/2nd सेमेस्टर के अंदर इस सर्टिफिकेशन कोर्स को लिया जाता हैं जिसमें नीचे दिए टॉपिक से सम्बंधित प्रशन होतें हैं

Unit 1 = परिचय: मनोविज्ञान क्या है, दैनिक जीवन में मनोविज्ञान, मनोवैज्ञानिक कारक और शारीरिक बीमारी?

Unit 2 = आत्म-अवधारणा: स्वयं की अवधारणा और परिभाषा, स्वयं के निर्धारक। स्वयं और व्यक्तित्व।

Unit 3 = आत्म-अवधारणा और संबंध: किसी के जीवन में परिवार और सहकर्मी समूहों का महत्व, भावनात्मक बुद्धिमत्ता का महत्व, संस्कृति की भूमिका। भावनात्मक बुद्धिमत्ता पैमाने का अभिविन्यास।

Unit 4 = विकास और स्वयं को साकार करना: आत्म-निर्देशन, व्यक्तिपरक कल्याण, आशा, आशावाद, लचीलापन। व्यक्तिपरक कल्याण पैमाने और मनोवैज्ञानिक पूंजी पैमाने का परिचय।

Unit 5 = विकास और स्वयं को साकार करना: आत्म-निर्देशन, व्यक्तिपरक कल्याण, आशा, आशावाद, लचीलापन। व्यक्तिपरक कल्याण पैमाने और मनोवैज्ञानिक पूंजी पैमाने का परिचय।

Unit 6 = स्वयं और इसके सहसंबंध: दृष्टिकोण, सोच, समस्या समाधान, निर्णय लेना और रचनात्मकता, भावना और प्रेरणा।

कुछ पढने योग्य बुक्स 

बुक्स के नाम ( Books Name ) राइटर के नाम ( AuthorName )
Positive Psychology: the science of happiness and human Alan Carr  ( 2004 )
Psychology for living: adjustment, growth and behave or today Eastwood Atwater, Karen Grover ( 1999 )

 

Health and wellbeing

यह सर्टिफिकेशन के लिए कोर्स हैं जो मनोविज्ञान के तीसरे वर्ष में 3rd/4th सेमेस्टर के अंदर किया जाता हैं इसमें नीचे दिए टॉपिक से सम्बंधित प्रशन उत्तर देने के लिए आतें हैं

Unit 1 = स्वास्थ्य मनोविज्ञान: स्वास्थ्य मनोविज्ञान की प्रकृति, विकास और लक्ष्य, स्वास्थ्य का जैव-मनोवैज्ञानिक मॉडल

Unit 2 = कल्याण: कल्याण की प्रशंसा जीवन संतुष्टि को प्रभावित करती है

Unit 3 = स्वास्थ्य व्यवहार: स्वास्थ्य समझौता और स्वास्थ्य बढ़ाने वाले व्यवहार, स्वास्थ्य व्यवहार के सिद्धांत: स्वास्थ्य विश्वास मॉडल नियोजित व्यवहार और तर्कपूर्ण कार्रवाई सिद्धांत

Unit 4 = स्वास्थ्य बढ़ाने वाले व्यवहार: कल्याण के लिए निहितार्थ मनोवैज्ञानिक कारक लचीलापन, आशावाद व्यायाम, सुरक्षा

Unit 5 = तनाव और स्वास्थ्य: तनाव की प्रकृति और प्रकार, तनाव मूल्यांकन, तनाव से निपटना, तनाव के मनोवैज्ञानिक मध्यस्थ (साहस, सामाजिक समर्थन और आशावाद)

Unit 6 = पुरानी बीमारी: कोरोनरी हृदय रोग (सीएचडी) और मधुमेह, प्रमुख लक्षण, निदान और मनोवैज्ञानिक सहसंबंध

कुछ पढने योग्य बुक्स 

बुक्स के नाम ( Books Name ) राइटर के नाम ( AuthorName )
Positive psychology. The scientific and practical explorations of human strengths Snyder, C. R., & Lopez, S. J. (2007) 
Health psychology M. Robin DiMatteo, Leslie R. Martin ( 2002 )
Health Psychology, 6th Edition SE Taylor ( 2006 )
Health psychology Biopsychosocial interactions. 4th Edition Sarafino, E.P. (2002) 
Swasthya Manovigyan RD Singh ( 2011 ) 

 

Read More – 

निष्कर्ष 

इस लेख में हमने उत्तराखंड कुमाऊँ यूनिवर्सिटी से बीए ( मनोविज्ञान ) से करने वाले स्टूडेंट्स के लिए मनोविज्ञान का पूरा पाठ्यक्रम हर सेमेस्टर के अनुसार समझाने का प्रयास किया है 

मैं यह उम्मीद करता हूँ कि कंटेंट में दी गई इनफार्मेशन आपको पसंद आई होगी अपनी प्रतिक्रिया को कमेंट का उपयोग करके शेयर करने में संकोच ना करें अपने फ्रिड्स को यह लेख अधिक से अधिक शेयर करें

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top